सफलता कैसे पाएं। (How to achieve success)

अगर आप भी यह सर्च कर रहे हो कि सफल कैसे बने (how to achieve success)या सफल व्यक्ति कैसे बने हैं तो आप सही जगह पर आए हो मैं आपको बता दूं कि आपने यह सर्च किया या फिर आप यहां पर आए या भी एक सफल व्यक्ति की निशानी है इस आर्टिकल में बताई गई सभी बातें सफल व्यक्ति से ली गई है तो कृपया इसको ध्यान से पढ़ें। 

1. अपने काम को करते समय हमेशा 110 परसेंट दें (always give 110 % in your work) 

इसका मतलब यह है कि अगर आप अपनी जिंदगी में सफलता पाना (Achieve success) चाहते हैं तो अपने काम को पूरी लगन और चा से काम करें जिससे आप अपने काम में सफल हो सके।

आप एक परसेंट भी बिना दिल लगाया काम ना करें क्योंकि आपको बाद में इसका पछतावा हो सकता है है कि काश मैं मन लगाकर काम कर लेता। यह आपके सफलता पाने की ओर पहली सीढ़ी है ।

2.समय का सही सदुपयोग करना (time management) 

अगर आप अपनी जिंदगी में सफ़लता पाना चाहते हैं (achieve success) तो आपको समय को सही तरह से समझना पड़ेगा क्योंकि हर व्यक्ति को अपने जिंदगी में केवल 24 घंटे ही मिलते हैं बेशक से वह अंबानी हो या हमारे देश का प्रधानमंत्री या फिर वह जो हर वक्त अपने किस्मत को दोष देता है।

अगर आपको सफल व्यक्ति बनना है तो अपने समय का सही सदुपयोग करें इसको व्यर्थ के कामों में ना खर्च करें क्योंकि समय ऐसी चीज है जो एक बार चली जाती है तो लौटकर वापस नहीं आती।

मैं आपको एक उदाहरण से समझाता हूं :- अगर आप ए स्टूडेंट हो तो आप समझना हर क्लास में तीन तरह के बच्चे होते हैं एक जो पढ़ने में सबसे ज्यादा होशियार होता है और दूसरा जो सबसे ज्यादा नालायक होता है और तीसरा मीडियम टाइप का बच्चा होता है जो ना नालायक होता है और ना ज्यादा होशियार होता है।

आपको पता है इन तीनों बच्चों में क्या अंतर है समय का इन तीनों में से होशियार बच्चा अपने समय का सही तरीके से सदुपयोग करता है और दूसरी तरफ नालायक बच्चा अपने समय को फालतू के कामों में खर्च करता है और तीसरी तरफ मीडियम टाइप का बच्चा अपने समय को लिमिट मात्रा में खर्च करता है ना ज्यादा पड़ता है और ना ज्यादा बेबाक के कामों में खर्च करता है। आप समझ सकते हैं कि सफलता पाने के पीछे समय का कितना बड़ा हाथ है। अगर आपको सफलता पाना है तो समय का सही तरीके से सदुपयोग करना होगा। 

 

3.COMMITMENT WITH MYSELF

अगर आप सफल होना चाहते हैं तो आपको अपने आप से (commitment) जिद करना होगा अपने अंदर जीद पालना होगा क्योंकि बिना ज़िद का सफलता संभव नहीं है। ज़िद का मतलब यह है कि आपको अपने काम को पूरा करने के लिए जी-जान लगाना है के लिए भी तैयार रहना चाहिए इसका मतलब यह है कि आप अपने काम में ऐसा लीन हो जाए कि आप को रात और दिन का पता ही ना चला और अपने अंदर एक आग यानी की जीद पाल ने जो आपको सफल बना देगा।

उदाहरण के तौर पर:-आप अपने आप से एक कमिटमेंट (commitment) कर ले कि जब तक यह काम पूरा नहीं होगा तब तक मैं इसको छोडूंगा नहीं बेशक से मेरी जानी कहां चली जाए मैं उस काम को पूरा करके रहूंगा बेशक से मेरे सामने कितने भी मुसीबत हो। आप अपने अंदर एक आंख वाले क्योंकि आग ऐसी चीज होती है जो अंदर एक बार लग गई तो जल्दी बुझती नहीं है।

4.हमेशा सीखने पर ध्यान दें( Always Focus on learning) 
अगर आपको अपने जिंदगी में सफलता पाना है तो हमेशा सीखने यानी कि कुछ नया सीखने पर ध्यान दें। यह सफल बनाने का मूल मंत्र है। आप दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बिलगेट को तो जानते ही होंगे उन्होंने अपनी एक पुस्तक में लिखा था कि वे जब कुछ भी नहीं थे तो भी वह हमेशा अपने काम के बारे में कुछ नया सीखने की कोशिश करते थे और आज वह सफल व्यक्ति बन गए हैं तो भी वह कुछ न कुछ नया चीज सीखते ही रहते हैं उनका मानना है ,कि कोई भी व्यक्ति अपने काम में या फिर किसी चीज में परफेक्ट नहीं होता उसको परफेक्ट बनना पड़ता है।

उदाहरण के तौर पर:-आप अपने जिंदगी में कुछ नया सीखने की कोशिश करते रहें क्योंकि कोई भी व्यक्ति अपनी जिंदगी में परफेक्ट पैदा नहीं होता और कोई व्यक्ति अपनी जिंदगी में परफेक्ट होता ही नहीं है अगर बिलगेट भी पैदा हुए थे तू भी अमीर पैदा नहीं हुए थे वह सीखते सीखते सीखते हैं अमीर बने हैं और वह आज भी सीखते हैं उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि वह आज भी 1 दिन में कम से कम चार या पांच किताबें पढ़ डालते हैं। तो आप इंतजार सीख सकते हैं कि वह इतने अमीर व्यक्ति होकर भी कुछ सीखना नहीं बंद करते हैं।

और उनके नाम एक सबसे महंगी किताब खरीदने का भी वर्ल्ड रिकॉर्ड है जिसे आप अनुमान लगा सकते हैं कि बिल गेट्स सीखने या पढ़ने के कितने शौकीन है। अगर आप भी सफल बनना चाहते हैं तो अपनी जिंदगी में कुछ ना कुछ सीखते रही है सफलता की यही निशानी है।

5.एक प्रोग्रेस कार्ड बनाएं(make progress graph)

अगर आप सफलता पाना चाहते हैं तो एक प्रोग्रेस कार्ड बनाएं जिसमें अपनी सारी प्रोग्रेस रिजल्ट लिखें और साल खत्म हो जाने पर पिछले साल की तुलना में आकलन करें कि आपने इस साल पिछले साल से कितना बेहतर किया है और आपको कितना बेहतर करना चाहिए था इससे यह होगा कि आपको अपना परफॉर्मेंस पता चलता रहेगा जो कि सफल व्यक्ति की निशानी है।

यह सब सफलता के अभिन्न मंत्र है अगर आप इसको अपनी जिंदगी में फॉलो करेंगे तो आप भी सफल व्यक्ति बन सकते हैं। सफल व्यक्ति बनना आपके ऊपर है आप क्या सोचते हैं और क्या क्या करते हैं यह भी आपके ऊपर है।

उदाहरण के तौर पर:- आप एक कार्ड बनाए जिसमें आप पिछले साल का अपना परफॉर्मेंस और इस साल का परफॉर्मेंस लिखें और चेक करें कि आपने इस साल कितना बेहतर किया है पिछले साल की तुलना में। और आपको कितना बेहतर करना चाहिए था इस साल यह भी चेक करें। अगर आप सफल व्यक्ति बनना चाहते हैं तो इन सब बातों को ध्यान से फॉलो करें।

😛 😛

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *